Super Cop

जनपद से अपराध का सफाया करना ही मकसद - IPS अनुराग वत्स

जनपद से अपराध का सफाया करना ही मकसद - IPS अनुराग वत्स

 
जब से आईपीएस अनुराग वत्स ने सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक की कमान संभाली है तब से मानो अपराधियों की शामत सी आ गई है. इस जाबांज अधिकारी के खौफ से अपराध करना तो दूर अब अपराधी जनपद छोड़कर भागने को मजबूर हैं. सुल्तानपुर के इस नए कप्तान ने पुलिस मीडिया न्यूज़ से बातचीत में बताया कि उनका एक ही मकसद है कि  जनपद में अपराधियों पर लगाम लगाई जाए. अनुराग वत्स का कहना है कि क्राइम होने की संभावनाओं को खत्म करना चाहिए जिससे अपराधियों पर अंकुश लगाया जा सके

 
नई पारी की कर रहे हैं शुरूआत


गौर करने वाली बात है कि सरकार ने अनुराग वत्स का तबादला लखनऊ पुलिस अधीक्षक नगर से सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक के रूप में किया. सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक का चार्ज संभालते ही अनुराग वत्स ने अपने मातहतों को भी साफ और स्टीक शब्दों में कह दिया है कि जिले में अपराध का पूरी तरह सफाया होना चाहिए. उन्होने अपने पुलिस कर्मियों को हिदायत दी है कि अपराधियों की लगाम ही नहीं कसनी बल्कि अपराधियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई भी करनी है ताकि वो दोबारा कोई क्राइम करने की सोच भी ना सके. आईपीएस अधिकारी का मानना है कि जनपद में क्राइम का ग्राफ शून्य हो यही पुलिस विभाग की प्राथिमकता होनी चाहिए.


महिला अपराध को रोकना प्राथमिकता



जनपद की महिलाए सुरक्षित माहौल में जी सके इसके लिए भी आईपीएस अनुराग वत्स ने रणनीति तैयार कर ली है। उनका मानना है कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराध पर लगाम तभी लगाई जा सकती है जब जनता के मदद मांगने पर बिना देरी किए पुलिस मौके पर पहुंच जाएं. आईपीएस अधिकारी का ये भी कहना है कि अगर पुलिस जनता की बात को सुने और उनकी समस्याओं का हल करे तो वह मामला वही खत्म हो जाता है । पुलिस अगर अपनी जिम्मेदारियों को समझे और हर पल सतर्क रहे तो जनपद में एक मामूली सी चोरी करने की भी किसी अपराधी की हिम्मत ना हो ।


आईपीएस अनुराग वत्स का रिकार्ड शानदार



आईपीएस अधिकारी अनुराग वत्स का अपराधियों को पकड़ने और जुर्म का सफाया करने का रिकार्ड काफी काबिले तारिफ रहा है । आपको बता दें कि अनुराग वत्स जब लखनऊ में पुलिस अधीक्षक नगर का भार संभाले हुए थे तब उन्होने कई डकैती गिरोह का सफाया किया था. इतना ही नहीं जाम से जूझती लखनऊ की सड़कों को भी उन्होने मास्टर प्लान बना कर लखनऊ की जनता को जाम से निजात था । आगरा में एएसपी रहते हुए उन्होने चर्चित दिव्या अपहरण कांड के खुलासे में भी अहम भूमिका निभाई थी. आपको बता दें कि दिव्या अपहरण कांड तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार के लिए परेशानी का सबब बन गया था. दो करोड़ की फिरौती के लिए किए गए इस अपहरण को अनुराग वत्स ने सुलझाने में अहम रोल निभाया

एसपी साहब को यह पसंद है 


अनुराग वत्स को किताबे पढ़ना भी काफी भाता है. . इतना ही नहीं उन्हे खेलने का भी बहुत शौक है.... वे खाली वक्त में फिल्में भी देखते हैं । साथ ही साथ अनुराग को कुत्तों से बेहद लगाव है वह अपने खाली समय में कुत्तों के साथ खेलना कभी नही भुलते । साथ ही अनुराग का कहना है कि किताबे इंसाने की सबसे अच्छी दोस्त होती हैे इसलिए जब भी उन्हे खाली समय मिलता है वे किताबें पढ़ने बैठ जाते हैं।


कौन है अनुराग वत्स



2013 बैच के आईपीएस ऑफिसर अनुराग वत्स मूल रूप से गाजियाबाद के मुरादनगर के रहने वाले हैं. इन्होंने अपनी शुरूआती शिक्षा गाजियाबाद से ली और फिर आगे की पढ़ाई इन्होंने दिल्ली से की. अनुराग काफी कड़क मिजाज के अधिकारी भी माने जाते हैं. अपराधियों की नकेल कसना तो अच्छे से जानते ही हैं. इसके साथ साथ जनता की समस्याओं का हल निकालने में भी इनका कोई जवाब नहीं. अनुराग वत्स आईपीएस की ट्रेनिंग के दौरान गौतमबुद्ध नगर, आगरा और शाहजहांपुर में एसपी के तौर पर रहे. वहीं प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पुलिस अधीक्षक नगर रहते हुए उन्होंने काम का लोहा मनवाया. फिलहाल  अनुराग वत्स ने अपनी नई पारी की शुरुआत सुल्तानपुर से की है जहां उनका कार्यकाल 1 महीने का पूरा हो चुका है. और एक महीने के ही भीतर इन्होने अपराधियों के पसीने छुड़ा रखे हैं. ना केवल अपाधियों की नकेल कसी बल्कि क्राइम रेट भी काफी कम किया है ।

अपने पिता को मानते हैं रोल मॉडल


अनुराग वत्स ने बताया कि उनके पिता का उनकी जिंदगी में काफी अहम रोल है. वहीं उनकी प्रेरणा भी है। उन्होंने बताया कि एक शिक्षक के घर जन्म लेने की वजह से उन्हे समाज के प्रति नैतिक और सामाजिक जिम्मेदारियां निभाने की सदैव प्रेरणा मिली. पुलिस मीडिया न्यूज से अपना अनुभव बांटते हुए उन्होने कहा कि जब आप एक शिक्षक के बेटे होते हैं तो आपके पास कुछ गलत करने की संभावनाएं कम होती हैं. और उनके पिता ने भी सदैव उन्हे जनता की सेवा करने के लिए प्रेरित किया है ।

बहरहाल पुलिस मीडिया न्यूज भी ऐसे पिता को सलाम करता है जिनकी दी हुई शिक्षा और संस्कारों से उनका सपूत देश का नाम रौशन करने के लिए तत्पर है...

मुख्य संवाददाता

Chandan Rai

Police Media News

Leave a comment