Khaki Connection

प्रयागराज में पुलिसकर्मी को मारा थप्पड़ तो मुरादाबाद में दरोगा की वर्दी में लगी आग

प्रयागराज में पुलिसकर्मी को मारा थप्पड़ तो मुरादाबाद में दरोगा की वर्दी में लगी आग

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ कार्यक्रम में जाने की परमिशन न मिलने के बाद लखनऊ प्रशासन ने उन्हें अमौसी एयरपोर्ट पर रोक लिया. इसकी खबर फैलते ही सूबे के सभी जनपदों में सपाइयों ने उग्र प्रदर्शन किया है. उग्र प्रदर्शन के दौरान मुरादाबाद में सब इंस्पेक्टर (दरोगा) की वर्दी में आग लग गई तो दूसरी तरफ इलाहाबाद विश्वविद्यालय के एक छात्र नेता ने पुलिसकर्मी को थप्पड़ मार दिया. नेता का नाम राघवेंद्र यादव बताया जा रहा है.

सपा कार्यकर्ताओ ने कानून लिया अपने हाथ में 


प्रदेश के लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से किया रोका गया सपा कार्यकर्ताओ ने कानून ही अपने हाथ में ले लिया जगह जगह प्रदेश के कई हिस्सों में प्रदर्शन शुरू हो गए और कुछ देर बाद पुलिस और कार्यकर्ताओ के बिच झड़प की खबर आने लगी जगह-जगह धरने पर बैठे सपा कार्यकर्ता और पार्टी के नेता जमकर योगी सरकार विरोधी नारे लगा रहे हैं. प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, जिसमें बदायूं से सपा सांसद और पूर्व सीएम् के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव घायल हो गए हैं. उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया है.


लाठीचार्ज में घायल हुए सांसद धर्मेंद्र यादव


सपा प्रमुख अखिलेश यादव को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में जाने से रोकने के बाद सपा नेता और कार्यकर्ताओं ने बालसन चौराहे पर जाम लगाकर उग्र प्रदर्शन किया. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब उन्हें समझा-बुझाकर हटाने की कोशिश की, तो कार्यकर्ता उग्र हो गए. उनलोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया, जिसमें कई पुलिस वाले घायल हो गए. इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया. कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग भी की गई. समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव भी धरने पर बैठे थे. लाठीचार्ज के दौरान उन्हें सिर पर चोट लगी है.

क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश 


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर सूबे की योगी सरकार पर प्रयागराज जाने से रोकने पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि छात्रों से घबराई यह सरकार 'रोको और ठोको' की नीति पर काम कर रही है. अब यह चलने वाला नहीं है क्योंकि जनता भी चुनाव का इंतजार कर रही है और इन्हें सबक सिखाएगी. अखिलेश ने कहा, "मुझे इलाहबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों के बीच अपनी बात रखनी थी. छात्रसंघ के अध्यक्ष उदय यादव के कार्यक्रम में शामिल होना था. मुझे दुःख इस बात का है कि छात्रों ने इस कार्यक्रम की बहुत मेहनत से तैयारी की थी. मुझे भी मौका मिलने वाला था, इसमें शामिल होने का. लेकिन सरकार की नीयत साफ नहीं थी.

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment