Super Cop

वर्दी और संतान के प्रति फर्ज को बखूबी अदा कर रही है यूपी पुलिस की महिला सिपाही

वर्दी और संतान के प्रति फर्ज को बखूबी अदा कर रही है यूपी पुलिस की महिला सिपाही

औरत को कुदरत ने वो नेमत्त दी है कि वो अपनी सूझ-बूझ और समझदारी से घर और बाहर दोनो जगह की जिम्मेदारी बखूबी निभाती है। और फिर बात मां का फर्ज निभाने की हो या अपनी ड्यूटी पर अपने काम का लोहा मनवाने की तो महिला किसी मामले में कमतर नहीं रहतीं । झांसी की कोतवाली में तैनात एक महिला सिपाही भी कई दूसरी महिलाओं के लिए मिसाल बनी हुई हैं। ये महिला सिपाही मां होने की जिम्मेदारी तो बखूबी निभा ही रही है साथ ही अपनी वर्दी पर भी कोई आंच नहीं आने दे रही है। दरअसल ये सिपाही मां अपने नन्हे मासूम को कार्यालय लेकर आती है और यहां पर अपने मासूम की देखभाल भी करती है और अपनी ड्यूटी के हर काम को भी बेतकल्लुफ पूरा करती है

कई महिलाओं के लिए मिसाल बनी सिपाही

झांसी की कोतवाली में तैनात महिला सिपाही अर्चना पुलिस की वर्दी पहने अपने फर्ज की तो अदायगी कर ही रही है इसके साथ ही वो अपने मां होने के फर्ज में भी किसी तरह की कोई कमी नहीं आने दे रही है। गौर करने वाली बात है कि पुलिस विभाग एक ऐसा विभाग है जहां पुलिसवालों को सदैव जनता की सुरक्षा में तत्पर रहना पड़ता है इनके लिए ना कोई त्योहार और ना कोई छुट्टी। इनकी प्राथमिकता तो जनता के प्रति अपना फर्ज होता है। महिला सिपाही अर्चना भी अपने नन्हे मासूम की देखभाल तो करती ही है इसके साथ ही वर्दी के हर फर्ज को भी निभाती है और इसीलिए वो अपने बच्चे को लेकर ऑफिस आती है 

पुलिस उपमहानिरीक्षक ने भी की सराहना

अपने दोनो फर्जों को पूरी शिद्दत और ईमानदारी से निभा रही अर्चना की तत्परता को देखकर पुलिस उपमहानिरीक्षक झांसी परिक्षेत्र सुभाष सिंह बघेल ने उसकी काफी सराहना की यहां तक की उन्होने  महिला आरक्षी को 1000 रूपए नगर ईनाम देकर सम्मानित भी किया है। सच में ये महिला सिपाही कई उन महिलाओ के लिए मिसाल है जो मां बनने के बाद अपने अच्छे-खासे करियर को छोड़ घर की जिम्मेदारी निभाने में जुट जाती है। लेकिन अगर घर और ड्यूटी में सही तालमेल बैठा लिया जाए तो यकीनन दोनो जिम्मेदारी बखूबी निभाई जा सकती है। और यहीं बात वारणसी की महिला आरक्षी अर्चना सही साबित कर रही है।     

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment