Encounter

साले और चाचा को मौत के घाट उतारने वाले 25 हजार के इनामी को पुलिस ने मुठभेड़ में किया गिरफ्तार...तीसरी हत्या की भी कर रहा था तैयारी

साले और चाचा को मौत के घाट उतारने वाले 25 हजार के इनामी को पुलिस ने मुठभेड़ में किया गिरफ्तार...तीसरी हत्या की भी कर रहा था तैयारी

उत्तर प्रदेश के जिलों में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ का सिलसिला लगातार जारी है। पुलिस आए दिन मुठभेड़ के दौरान बदमाशों को गिरफ्तार कर रही है। इसी क्रम में हापुड़ (Hapur) जिले में कपूरपुर पुलिस ने 2 हत्याओं (Double Murder Case) में वांछित चल रहे 2 बदमाशों को शुक्रवार सुबह ही मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर एक बड़ी सफलता हासिल की है। जानकारी के अनुसार, फायरिंग में दोनों बदमाशों के पैर में गोली लगी है। पुलिस ने बदमाशों को गिरफ्तार कर इलाज के लिए अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया है। बताते चले कि गिरफ्तार दोनों बदमाशों पर 25- 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था।

अग्निवीर की तैयारी कर रहे युवक की करी थी हत्या 

मामले में जानकारी देते हुए पुलिस (Police) ने बताया कि 16 जुलाई को कपूरपुर थाना क्षेत्र के गांव छज्जूपुर डहाना में अग्निवीर (Agniveer) की तैयारी कर रहे सचिन की हत्या कर दी गई थी। जिसमें सचिन के बहनोई सोनू और उसके भाइयों का नाम जांच के दौरान सामने आया था। इसके बाद 30 जुलाई को गाजियाबाद (Ghaziabad) जिले के थाना निवाड़ी के गांव अबूपुर गांव में ओमवीर की भी हत्या हो गई थी। जिसमें उसके भतीजे सोनू, मोनू और गौरव के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

तीसरी हत्या की वारदात को अंजाम देने जा रहे थे आरोपित

पुलिस (Police) ने बताया कि दोनों बदमाश मोनू और गौरव शुक्रवार की सुबह छज्जूपुर डहाना (Chhajjupur Dahana) में राधा और उसके भाई की हत्या करने के इरादे से आ रहे थे। इस दौरान कपूरपुर थाने के सामने पुलिस वाहनों (Police Vehicles) की चेकिंग कर रही थी। इस दौरान पुलिस ने जांच के लिए दोनों को रुकने का इशारा किया तो बदमाशों ने अपनी बाइक मध्य गंग नहर की पटरी पर गांव पापा की तरफ मोड़ दी और भागने की कोशिश करने लगे।

पुलिस टीम पर की बदमाशों ने फायरिंग

लेकिन पुलिस (Police) ने पीछा कर दोनों बदमाशों को घेर लिया। अचानक पुलिस से अपने को घिरा देख बदमाश सकपका गए और पुलिसकर्मियों पर फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस टीम (Police Team) ने खुद का बचाव करते हुए की जवाबी फायरिंग की तो दोनों बदमाशों को पैर में गोली लग गई। गोली लगने से गौरव और मोनू लहूलुहान हालत में मौके पर ही गिर गए। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धौलाना (Community Health Center Dhaulana) में इलाज के लिए भर्ती कराया। जहां से उन्हें हापुड़ (Hapur) के लिए रेफर कर दिया गया।

बन गए थे सिरफिरे हत्यारे

दरअसल, सोनू, मोनू और गौरव तीनों भाइयों पर बदमाशी का ऐसा भूत सवार हुआ कि तीनों सिरफिरे हत्यारे बन गए।  बता दें तीनों ने पहले कपूरपुर थाना (Kapurpur Police Station) क्षेत्र के गांव छज्जूपुर डहाना के सचिन की हत्या की। फिर उसके बाद 30 जुलाई को गांव अबूपुर के रहने वाले अपने सगे चाचा ओमवीर की भी दिनदहाड़े हत्या कर दी। तीनों को देखते हुए पुलिस (Police) का कहना है कि हत्यारे अपने नाम का भय बना कर जयराम की दुनिया में नाम कमाने की चाह के चलते भी अपनों की हत्याओं को अंजाम दे रहे थे।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment