Encounter

पटना पुलिस ने ‘गोली का जवाब गोली’ से देकर नरसंहार करने वाले कुख्यात जुम्मन सहित 11 अपराधियों को किया गिरफ्तार

पटना पुलिस ने ‘गोली का जवाब गोली’ से देकर नरसंहार करने वाले कुख्यात जुम्मन सहित 11 अपराधियों को किया गिरफ्तार

बिहार के नए डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय का आदेश 'गोली का जवाब गोली' से पर पुलिस पूरी तरह अमल करती नजर आ रही है। जानकारी के मुताबिक शनिवार की रात पटना के पालीगंज में पुलिस ने गोली का जवाब गोली से ही देकर नरसंहार कर देने को बदनाम रहे भगोड़े अपराधी जुम्‍मन खां को दो घंटे की फायरिंग के बाद 11 साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार कुख्यातों के पास से पुलिस ने बड़ी संख्‍या में हथियार भी जब्‍त किए गए हैं ।

OTHER VIDEO :
 

जानिए पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक जुम्‍मन खां गैंग के साथ पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय की टीम की मुठभेड़ खीरी मोड़ थाना क्षेत्र में हुई । हिस्‍ट्रीशीटर जुम्‍मन खां पिछले कई वर्षों से फरार चल रहा था। वहीं आपको बता दें कि तीन साल पहले जुम्‍मन गैंग ने चार लोगों को एक साथ मौत के घाट उतार दिया था ।तब से पुलिस जुम्‍मन खां को पकड़ना चाहती थी, लेकिन वो हर बार पुलिस को गच्चा देकर फरार हो जाता था। लेकिन पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय को शनिवार शाम को सूचना मिली थी जुम्‍मन खां खीरी मोड़ थाना क्षेत्र में घूमते देखा गया है और उसके साथ में, और भी बहुत से अपराधी हैं जिनके पास हथियार भी है । इसके बाद मुखबिरों के माध्‍यम से जुम्‍मन खां के कहीं ठहर जाने की प्‍लानिंग को वाच किया गया । 

OTHER VIDEO :

बड़ा नरसंहार करने की कर रहा था प्लानिंग

वहीं रात को खबर मिली कि जुम्मन खां अपने साथियों सहित खीरी मोड़ के बहुत इंटीरियर गांव जम्‍हारू में रात को टिक गया है । इसके साथ ही  मुखबिरों ने पुलिस को ये भी बताया कि वो रविवार या समोवार को फिर से मछली तालाब के विवाद को लेकर कोई बड़ा नरसंहार कर सकता है।  इसके बाद रात को ही डीएसपी मनोज पांडेय की टीम ने जुम्‍मन खां को दबोचने की प्‍लानिंग बनाई।

OTHER VIDEO :

डीएसपी ने गोली का जवाब गोली से देने के लिए कहा

देर रात को जब पुलिस टीम ने धावा बोला और जिस घर में जुम्‍मन खां अपने गैंग के साथ टिका था, उसका दरवाजा खटखटाया, तो भीतर से गोलियां चलने लगी। इसके बाद पुलिस टीम ने भी मोर्चा संभाल लिया। डीएसपी मनोज पांडेय ने गोलियों का जवाब गोलियों से देने का आदेश दिया और खुद भी फायर करने लगे। तकरीबन दो घंटे तक दोनों ओर से गोलियां चलती रही। वहीं फायरिंग के बीच ही रास्‍ता बनाते हुए डीएसपी कुछ पुलिस वालों के साथ बाहर से घर की छत पर चढ़ गए  और फिर घर के भीतर कूदे। अब घर के भीतर अपराधी घिर गए थे । इसीलिए जुम्मन समेत सभी ने पुलिस के सामने सरेंडर करने में भी भलाई समझी

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment