Crime

पटाखा जलाने के विवाद पर दबंगों ने होमगार्ड के बेटे की पीट-पीटकर की हत्या

पटाखा जलाने के विवाद पर दबंगों ने होमगार्ड के बेटे की पीट-पीटकर की हत्या

उत्तरप्रदेश के शाहजहाँपुर के खुटार में दीपावली की रात एक सनसनीखेज घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि यहां पटाखा जलाने को लेकर हुए विवाद में दबंगों ने एक युवक की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में तीन सगे भाइयों सहित चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

जानिए पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक थानाक्षेत्र के गांव रजमना में रहने वाले राजेश कुमार होमगार्ड हैं। उनके दो बेटे कौशल कुमार अवस्थी और अंकित कुमार अवस्थी थे। दीपावली की रात 8 बजे के करीब अंकित अपने दरवाजे पर पटाखा जला रहा था। घर के सामने रहने वाले खुशी राम ने अंकित के पटाखा जलाने का विरोध किया और इसी बात पर दोनो पक्षों में कहासुनी हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि खुशीराम अपने भाईयों जगदत्ततोंदी लाल और एक साथी कमलेश कुमार के साथ लाठी डंडों से लैस होकर वहां आ गया और उन्होंने अंकित की बेरहमी से पिटाई करनी शुरू कर दी। अंकित को पिटता देख बड़ा भाई कौशल उसे बचाने आयातो हमलावरों ने उसे भी पीट दिया। इसी बीच मामले की सूचना कुछ लोगों ने पुलिस को दे दी। लेकिन पुलिस दोनों पक्षों को थाने लाने के बजाय एक पक्ष के कौशल को पकड़ कर थाने ले आई। बताया जा रहा है कि कौशल को थाने लाने के कुछ देर बाद ही दोबारा से हमलावरों ने होमगार्ड राजेश अवस्थी के घर पर चढ़ाई कर दी और उसके बेटे अंकित को पकड़ लिया। और फिर इन दबंगों ने लाठी डंडों से पीट-पीटकर उसकी निर्मम हत्या कर दी। होमगार्ड के बेटे अंकित की निर्मम हत्या करने के बाद हमलावर होमगार्ड को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। 

दबंगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया

इस घटना के बाद होमगार्ड बेटे की लाश को लेकर थाने पहुंचा और मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने हत्यारोपी कमलेश पुत्र श्यामाचरणखुशीरामजगदत्ततोंदी लाल पुत्रगण तोताराम के खिलाफ हत्या और जान से मारने की धमकी के तहत मामला दर्ज कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।वहीं दिवाली के दिन हुई घटना से अंकित के परिवार में मातम पसर गया

काफी मिलनसार था मृतक अंकित

बताया जा रहा है कि  मृतक अंकित काफी होनहार और मिलसार लड़का था। परिजनों और गांव के लोगों की माने तो वह अपने से बड़ों का सम्मान करने में पीछे नहीं रहता था और उसका गांव में कभी भी किसी से भी कोई विवाद नहीं हुआ। लेकिन इसके बाद भी दबंगों ने उसे पीटकर मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि अंकित सिर्फ 4 साल का था तभी उसके सिर से मां का साया उठ गया था। मां की मौत के बाद उसके पिता राजेश कुमार और बाबा अन्नू लाल ने किसी तरह उसे पाल पोस कर बड़ा किया था। गांव की लोगों की मानें तो बड़े भाई कौशल की शादी न होने और घर में कोई महिला न होने की वजह से अंकित ही अपने पिता, भाई और बाबा के लिए खाना बनाता और घर का काम करता। उसकी मौत से बुजुर्ग बाबा और पिता का रो -रो कर बुरा हाल है।

एएसपी और सीओ ने किया मौके का मुआयना

वहीं दवंगों द्वारा एक युवक की पीट-पीटकर हत्या करने की खबर लगते ही गुरुवार सुबह एसपी ग्रामीण सुभाष चंद्र शाक्य और सीओ पुवायां संदीप कुमार गांव पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी की। पुलिस ने खुटार पुलिस को मामले में नामजद कराए गए आरोपियों की गिरफ्तारी के भी निर्देश दिए हैं।
 

संवाददाता

Shanu singh

Police Media News

Leave a comment