Crime

मुजफ्फरनगर दंगे के गवाह की गोली मार कर हत्या

मुजफ्फरनगर दंगे के गवाह की गोली मार कर हत्या

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में साल 2013 में दंगो का मामला सामने आया था। लेकिन इन दंगों में पीडित कुछ लोग ऐसे भी थे जो अभी भी डर के जीवन जी रहे थे। बता दें कि दंगों के गवाह की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी है। मृतक एक दूध कारोबारी है जो सुबह डेयरी पर दूध लेने गया था। इसी दौरान बाइक सवार तीन बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। जिससे युवक की मौत हो गई। इसके बाद आस-पास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।

जानिए क्या है पूरा मामला 

जानकारी के मुताबिक मामला मुजफ्फरनगर के कस्बा खतौली क्षेत्र के इंद्रा चौक का है। जहां क्षेत्र के एनएच-58 पर इंदिरा गांधी की मूर्ति के पास स्थित दूध कारोबारी अशफाक खेड़ी तगान गांव से दूध लेकर खतौली की एक डेयरी पर जा रहा था। अशफाक ने अपनी मोटरसाइकिल को जैसे ही साइड में खड़ी की। इसी दौरान पीछे से बाइक सवार तीन बदमाशों ने अशफाक पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। फायरिंग की गोली लगने के कारण वह गंभीर रुप से घायल होकर जमीन पर गिर गया। तभी अचानक से आस-पास के लोग वारदात स्थल पर जमा हो गए। वारदात के बाद से लोगों में भय का माहौल फैला है। बदमाश लोगों को आते देख मौके से फरार हो गए। जिसके बाद लोगों ने वारदात की सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंचकर अशफाक के शव को अपने कब्ज़े में लिया है। फिलहाल पुलिस मामले की तफतीश में जुटी है।   

मुजफ्फरनगर दंगों का गवाह था अशफाक

गौरतलब है कि साल 2013 में मुजफ्फरनगर में दंगों की आग भड़की थी। इस दौरान कई लोगों की हत्या कर दी गई थी। वहीं इस दंगे की आग में अशफाक ने भी अपने दो सगे भाइयों को खो दिया था। उनकी हत्या उस दौरान की गई थी जब वह दूध स्पलाई कर वापस आ रहे थे। जिसके बाद अशफाक ने रतनपुरी थाने में 8 लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वहीं इस दर्ज मुकदमें में फिलहाल कोर्ट में ट्रायल पर चल रहा है। जिसमें 25 मार्च को सुनवाई होनी थी।

लगातार मिल रही थी धमकियां 

पुलिस के मुताबिक काफी समय से इस मामले में अशफाक को मुकदमा वापस लेने पर आरोपी लगातार उसपर दबाब दे रहे थे। साथ ही उसे बार-बार परिणाम भुगतने की धमकी भी दे रहे थे। फिलहाल पुलिस हत्यारोपियों की पहचान करने के लिए आस-पास में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है। 

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment