Crime

डेढ़ माह में 15 संगीन वारदातों से थर्राया मेरठ

डेढ़ माह में 15 संगीन वारदातों से थर्राया मेरठ

योगी जी उत्तर प्रदेश को अपराधमुक्त बनाने के लाख दावे करें लेकिन ज़मीनी हकीकत कुछ और ही है! कुछ जिलों को छोड़ दें तो बाकी जगहों का कमोबेश अपराध का सिलसिला बदस्तूर जारी है! इन दिनों जिन जिलों में सबसे ज्यादा वारदात हो रही हैं उनमे मेरठ अव्वल है! बीते डेढ़ माह में 15 संगीन वारदात का होना इसकी पुष्टि करता है! मेरठ में बदहाल कानून व्यवस्था की स्थिति पर डीजीपी भी अपनी नाराजगी जता चुके हैं!  

बदमाशों के हौसले बुलंद

सीएम योगी सूबे की सत्ता पर काबिज हुए तो सबसे पहले प्रदेश को अपराधमुक्त करने का बीड़ा उठाया और पुलिस को बदमाशों पर शिकंजा कसने के निर्देश दिए! सीएम के तेवर देख यूपी पुलिस भी हरकत में दिखी और ताबड़तोड़ एनकाउंटर कर अपराध पर कुछ हद तक काबू पाया भी । लेकिन अब फिर अपराधियों के भीतर से पुलिस का डर निकलता दिखाई दे रहा है । मेरठ की बात करें तो पिछले एक सप्ताह में ही बदमाशों ने कई वारदात को अंजाम देते हुए मेरठ पुलिस की सजगता और कार्यशैली की पोल खोल दी है!

 

महिलाओं से जुड़े अपराध में बढ़ोतरी

मेरठ में महिलाओं से जुड़े अपराध में भी तेजी से बढ़ोतरी आई है! सरकार द्वारा चलाया गया एंटी रोमियो स्क्वायड पहले तो कारगर रहा और मनचलों के खिलाफ कार्यवाई भी दिखाई दी लेकिन अब इस स्क्वायड का असर भी अब कहीं दिखाई नहीं दे रहा! हालत यह है कि स्कूल-कॉलेज आते जाते बेटियाँ अक्सर छेड़छाड़ का शिकार हो रही हैं! महिला व बच्चियों से दुष्कर्म इसकी बानगी बयां कर रहे हैं! सरधना में छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचलों द्वारा छात्रा को घर में घुसकर जलाने का मामला भी अभी शांत नहीं हुआ है! 

 

डीजीपी ने जताई नाराज़गी

डीजीपी ओपी सिंह ने अपराध में बढ़ोतरी पर नाराजगी जताते हुए रिपोर्ट तलब की है! कानून व्यवस्था की बैठक में डीजीपी ने अफसरों को फटकार लगाते हुए अपराधिओं पर लगाम लगाने के सख्त निर्देश दिए हैं ।


बदमाशों पर कसेगें शिकंजा : एसएसपी

मेरठ एसएसपी राजेश पाण्डेय ने पराधियों पर शिकंजा कसे जाने की बात कही है! साथ ही जिन वारदातों का खुलासा नहीं हुआ है इनके खुलासे के लिए भी क्राइम ब्रांच को तेजी से जुटने के निर्देश देने की बात कही है!

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment