Smart Policing

एक हफ्ते पहले जेल से रिहा हुए पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

एक हफ्ते पहले जेल से रिहा हुए पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

पिछले दिनों दुष्कर्म मामले में जमानत पर जेल से रिहा हुए अखिलेश यादव कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री रहे गायत्री प्रजापति की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को शुक्रवार रात फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है. लखनऊ की गाजीपुर पुलिस ने धोखाधड़ी, जालसाजी और धमकी देने के मामले में प्रजापति को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. फिलहाल गायत्री प्रसाद प्रजापति को केजीएमयू में भर्ती कराया गया है. शुक्रवार को ही प्रजापति के खिलाफ एक और FIR दर्ज की गई थी.यह एफआईआर रेप का आरोप लगाने वाली महिला के पूर्व वकील दिनेश चंद्र त्रिपाठी ने करवाई थी. एफआईआर में पीड़ित महिला को भी आरोपी बनाया गया है. त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि मामले को रफा-दफा करने के लिए रेप पीड़िता और आरोपी गायत्री प्रजापति के बीच करोड़ों का लेनदेन हुआ.

वकील का आरोप मामले को सुलटाने के लिए करोड़ों का लेनदेन

वकील का आरोप है कि रेप मामले में गायत्री प्रजापति ने पीड़िता को करोड़ों की संपत्ति ट्रांसफर की. इसके भी पुख़्ता प्रमाण पुलिस को सौंपे गए हैं. जिसके बाद यह एफआईआर दर्ज की गई है. वादी का कहना है कि मामले को -दफा करने के लिए रेप पीड़िता और आरोपी के बीच करोड़ों लेनदेन हुआ है. बता दें पूरा मामला सपा शासनकाल का ही है जब चित्रकूट की एक महिला ने मंत्री गायत्री प्रजापति पर रेप का आरोप लगाया था. इसके बाद फ़रवरी 2017 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गायत्री प्रजापति के खिलाफ केस दर्ज करते हुए गिरफ्तार केस किया गया था.

हाईकोर्ट से 2 महीने की राहत

बता दें कि बीते 4 सितंबर को ही गायत्री प्रजापति को हाई कोर्ट से रेप केस में जमानत मिली थी. रेप मामले में जेल में बंद यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका हाई कोर्ट ने मंजूर कर ली थी. इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने गायत्री प्रसाद प्रजापति को 2 महीने की राहत दी थी. गायत्री प्रजापति लखनऊ जेल में कई महीनों से बंद थे. गायत्री प्रजापति अखिलेश यादव सरकार में खनन मंत्री रहे हैं.

लेखक

Madhavi Tanwar

Police Media News

Leave a comment