Khaki Connection

जानिए क्यों कोलकाता पुलिस खाकी वर्दी की जगह सफेद यूनिफार्म पहनती है ?

जानिए क्यों कोलकाता पुलिस खाकी वर्दी की जगह सफेद यूनिफार्म पहनती है ?

देशभर की पुलिस खाकी वर्दी पहने नजर आती है। लेकिन मात्र कोलकाता ही एक ऐसी जगह है जहां की पुलिस की वर्दी का रंग खाकी नहीं बल्कि सफेद होता है। ऐसे में यकीनन सवाल उठना लाजमी है कि जब पूर देश की पुलिस की यूनिफॉर्म का रंग खाकी है तो फिर कोलकाता की पुलिस सफेद वर्दी क्यों पहनती है? तो आपको बता दें कि ऐसा होने के पीछे एक खास कारण हैं। 

OTHER VIDEO :

जानिए पूरी खबर

आपको बता दें कि कोलकाता पुलिस की यूनिफॉर्म का रंग खाकी की बजाय सफेद होने के पीछे विशेष कारण है। दरअसल आजादी से पहले हमारे देश पर अंग्रेजों की हुकूमत चलती थी। 1845 में अंग्रेजी शासन ने ही कोलकाता पुलिस का गठन किया था। उस समय ये विचार किया गया की कोलकाता की पुलिस की वर्दी का रंग क्या रखा जाये और फिर फैसला लिया गया की वहां की पुलिस की यूनिफॉर्म सफ़ेद रंग की होगी। इसके पीछे भी एक वजह थी और वो थी यहां का मौसम। दरअसल कोलकाता समुद्र के समीप बसा होने के कारण वहां के वातावरण में हमेशा नमी बनी रहती है और गर्मी काफी तेज होती है। ऐसे में पुलिस की वर्दी का सफ़ेद रंग का चुनाव इसलिए किया गया ताकि सूर्य की तेज किरणे सफ़ेद रंग से रिफ्लेक्ट हो जाये और ज्यादा गर्मी ना लगे। बस तभी से लेकर अब तक वहां की पुलिस का सफ़ेद रंग की वर्दी पहनना जारी है।


OTHER VIDEO :

कोलकाता को छोड़ पूरे बंगाल की पुलिस पहनती है खाकी वर्दी

वहीं आपको बता दें कि कोलकाता पश्चिम बंगाल की राजधानी है और पश्चिम बंगाल में दो तरह की पुलिस काम करती है जिनमे से कोलकाता की पुलिस की वर्दी ही सफ़ेद रंग की है बाकी पूरे बंगाल की पुलिस खाकी रंग की ही वर्दी पहनती है और वो इसलिए क्योंकि बंगाल पुलिस का गठन साल 1861 में किया गया था और बंगाल पुलिस के DGP सीधा राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपते हैं और बंगाल पुलिस खाकी रंग की वर्दी का इस्तेमाल करती है। इस वजह से कोलकाता और बाकी पुलिस की वर्दी में फर्क देखने को मिलता है।

लेखक

Madhavi Tanwar

Police Media News

Leave a comment