Smart Policing

किडनैपिंग का मुकदमा लिखाने वाले ही निकले किडनैपर

किडनैपिंग का मुकदमा लिखाने वाले ही निकले किडनैपर

उत्तर प्रदेश में रामपुर के बिलासपुर क्षेत्र में रंजिशन अपने विरोधियों को फंसाने के लिए अपहरण की रची गई साजिश का पुलिस ने भंडाफोड़ कर दिया। पुलिस ने फर्जी अपहरण की साजिश रचने में 4 लोगों को अरेस्ट किया है। इन आरोपितों ने खुद ही चोटें भी मार लीं थीं।जिला रामपुर में बिलासपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बेरखेड़ा में पुलिस ने जो केस 14 घंटे में सॉल्व किया, वह काफी घुमा देने वाला मामला रहा है

क्या है मामला 


प्रदेश के रामपुर में एक युवक ने अपने साथ मारपीट किये जाने और फुफेरे भाई को अपहरण करने की सूचना पुलिस को दी अपहरण करने वालों के नाम उसी के गांव के कुलविन्दर सिंह उर्फ किन्दी, पलविन्दर सिंह उर्फ पिन्टू और सोने उर्फ सुरेन्द्र सिंह बताये। अपहरण की सूचना पाकर फौरन हरकत में आई पुलिस की कमान खुद पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा ने संभाली और रात में ही पीपलीवन के घने जंगलों में काॅम्बिंग शुरू कर दी। इस काॅम्बिंग में चोटिल वादी बलदेव सिंह साथ में ही था। पुलिस अधीक्षक को वादी के बयानों में विरोधाभास महसूस होने पर जब उसकी चोटों का चिकित्सीय परीक्षण कराया गया तो चोटें अपहरण के बताये गये वक्त से दो दिन पहले की निकलीं

चंद घंटो में अपहरण का कप्तान ने किया खुलासा


रामपुर के कप्तान शिवहरि मीणा ने बताया कि वादी से जब सख्ती से पूछताछ की गयी तो वह टूट गया और सारी घटना का खुलासा करते हुए अपने फुफेरे भाई को अपने एक अन्य परिचित के घर से पुलिस को बरामद कराया इस दौरान तथाकथित अपहरणर्ता के मोबाइल की दोनों सिमें निकालकर कहीं छिपा दी गईं थी। फिलहाल पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर साजिश रचने वाले वादी सहित चारों को गिरफतार कर लिया है। साथ ही अपहरणर्ता का मोबाइल भी बरामद कर लिया है। काॅम्बिंग करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक ने 5 हजार रुपये का पुरूस्कार देने की घोषणा की है।

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment