Crime

किशोरी के साथ NH 91 पर चलती कार में बदमाश करते रहे दरिंदगी, हाईवे पुलिस को भनक तक न लगी

किशोरी के साथ NH 91 पर चलती कार में बदमाश करते रहे दरिंदगी, हाईवे पुलिस को भनक तक न लगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और प्रदेश पुलिस के मुखिया लाख दावें कर लें कि महिला और मासूम बच्चियों के साथ होने वाले अपराध पर लगाम लगाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन हकीकत तो ये है कि प्रदेश में महिला अपराध में हर दिन इजाफा हो रहा है और महिलाएं और बच्चियां खौफ के साए में जीने को मजबूर हैं।ताजा मामला बुलंदशहर के जहांगीराबाद कोतवाली क्षेत्र का है। जानकारी के मुताबिक यहां सातवीं क्लास में पढ़ने वाली एक किशोरी को कार सवार 4 बदमाशों ने सरेराह उसके भाई के सामने अपहरण कर लिया और चलती कार में एनएच 91 पर  किशोरी के साथ गैंगरेप की जघन्य वारदात को अंजाम दिया। गैंगरेप के बाद दरिंदें किशोरी को एक सरकारी स्कूल में छोड़कर फरार हो गए। हैरानी की बात ये है कि 36 घंटे तक कार सवार हवस के भूखे भेड़िये किशोरी से दंरिन्दगी करते रहे और हाईवे पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। वहीं पीड़ित परिवार ने सरकार से दरिंदो को गिरफ्तार कर फाँसी की मांग की है।

जानिए पूरा मामला

दिलदहला देने वाला मामला यूपी के बुलंदशहर का है। जानकारी के मुताबिक 10 मार्च को जहांगीराबाद की रहने वाली एक किशोरी अपने भाई के साथ बाइक पर सवार होकर शादी समारोह से अपने घर लौट रही थी। लेकिन रास्ते मे जहांगीराबाद कोतवाली क्षेत्र में कार सवार 4 बदमाशो ने किशोरी के भाई के साथ पहले मारपीट और लूटपाट की और फिर हैवान किशोरी को सफेद रंग की कार में अगवा कर फरार हो गए थे। वहीं अगवा किए जाने के 36 घंटे बाद बदहवास स्थिति में बरामद हुई किशोरी को 2 दिन बाद होश आया तो पुलिस ने किशोरी का बयान लिया । और पीड़िता किशोरी ने जब उन 36 घंटो में अपने साथ हुई दरिंदगी की दास्तां बयां की तो हर किसी की रूह कांप गई। 

पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री से गुनहगारों को फांसी दिए जाने की मांग की

किशोरी ने पुलिस को बताया कि दरिंदे उसे कार में डालकर एनएच 91 दिल्ली- नोएडा की तरफ ले गए और उसके साथ दरिंदगी की ।वहीं पीड़ित किशोरी के मामा के मुताबिक बुलंदशहर में बेटियां बिल्कुल सुरक्षित नहीं है। वहीं हैवानों ने किशोरी के साथ 36 घंटे तक दरिंदगी की लेकिन पुलिस अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। और अब पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी और उन्हें फांसी की सजा दिए जाने की मांग की है। 
 

हाईवे पुलिस को क्यों नहीं लगी भनक

वहीं किशोरी के बयान के आधार पर पुलिस उसके गुनहगारों की तलाश में जुट गई है।  पुलिस दावा कर रही है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। हालांकि एसएसपी यह स्वीकार कर रहे हैं कि बदमाश किशोरी को कार में डालकर बुलंदशहर से नोएडा- गाजियाबाद यानी एनएच 91 की तरफ बुलंदशहर से ले गए और हाईवे पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। इस घटना ने एक बार फिर योगी की पुलिस के महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के तमाम दावों की धज्जियां उड़ा कर रख दी है।  

संवाददाता

Lalit Negi

Police Media News

Leave a comment