Smart Policing

किसान यात्रा के दैरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए डीजीपी ने की गाजियाबाद पुलिस की सराहना

किसान यात्रा के दैरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए डीजीपी ने की गाजियाबाद पुलिस की सराहना

किसान यूनियन के आह्वान पर किसानों द्वारा अपनी मांगों को लेकर किसान क्रान्ति यात्रा का आयोजन किया गया था यात्रा क दौरान जनपद में कानून और व्यवस्था बनाए रखना बेहद चुनौतीपूर्ण था और इस दायित्व को निर्वहन गाजियाबाद पुलिस द्वारा पूरे मनोयोग और संयम बरतते हुए किया गया था और जनपद से किसान क्रान्ति यात्रा को शांतिपूर्ण ढंग से प्रस्थान कराया गया था बहरहाल गाजियाबाद पुलिस की कुशल कार्यप्रणाली एवं नेतृत्व के लिए पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश ने ना केवल गाजियाबाद पुलिस की सराहना की बल्कि प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया गया ।  

25 ट्रैक्टर पड़े थे खराब

गाजियाबाद के एसपी ट्रैफिक श्याम नारायण सिंह खुद ट्रैफिक संभाल रहे थे. किसान 25 खराब पड़े ट्रैक्टर्स को ठीक कराने की जिद करने लगे. लेकिन सवाल यह था कि इसकी जिम्मेदारी लेगा कौन ? यूपी पुलिसकर्मियों का कहना था कि दिल्ली पुलिस ने लाठी, डंडे बरसाए और किसानों के ट्रैक्टर तोड़े तो वही इसे ठीक भी कराए. जबकि दिल्ली पुलिसकर्मियों का कहना था कि खराब ट्रैक्टर एमसीडी बूथ से पहले ही यूपी पुलिस की सीमा में है तो वो ठीक कराएं.

यूपी पुलिस ने समझा दर्द

विवाद बढ़ता देख खुद आइजी रामकुमार मौके पर पहुंचे थे । मौके पर पहुंचे आईजी ने किसानों का दर्द समझा और तुरंत पुलिस को उनके ट्रैक्टर ठीक करवाने के निर्देश दिए थे । आईजी ने एसपी ट्रैफिक को ट्रैक्टर्स को जल्द से जल्द ठीक कराकर किसानों की रवानगी सुनिश्ति कराने को कहा था । जिसके बाद इंदिरापुरम थानाध्यक्ष सचिन मलिक को इस कार्य का इंचार्ज बनाया गया था .रैली में आए मेरठ मंडल के अध्यक्ष मांगेराम त्यागी ने बताया था कि दिल्ली पुलिस ने 25 ट्रैक्टर की हवा निकाल दी, तार काट दिए, बालगोटी और रेडिएटर तोड़ दिया था । जिसको ठीक दिल्ली पुलिस को ही कराना चाहिए। लेकिन तत्परता दिखाते हुए सभी ट्रैक्टर यूपी पुलिस ने ठीक करवाए । जिसके बाद यूपी पुलिस का शुक्रिया करते हुए किसान अपने रास्ते की तरफ निकल गए थे ।

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment