Crime

प्रदेश की राजधानी में रिटायर्ड सिपाही की बेटी से गैंगरेप

प्रदेश की राजधानी में रिटायर्ड सिपाही की बेटी से गैंगरेप

उत्तर प्रदेश में सीएम योगी और पुलिस मुखिया के तमाम दावों को झुठलाते हुए महिला अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। ताजा मामला राजधानी लखनऊ से सामने आया है। जहां रिटायर्ड सिपाही की बेटी के साथ दो घंटे तक चलती कार में गैंगरेप किया गया है। पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहां की गुरुवार को आरोपियों ने उसे नौकरी का झांसा देकर विभूतिखंड स्थित न्यू हाई कोर्ट रोड पर बुलाया और फिर आरोपियों ने उसे कार में अगवा कर लिया । साथ ही पीड़िता का आरोप है की उसके साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाये गए। और फिर उसे चलती कार से तेलीबाग इलाके में फेंक दिया। वहीं पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर गैंगरेप, अप्राकृतिक यौन संबंध, एसी-एसटी ऐक्ट समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है ।

क्या है पूरा मामला 

जानकारी के मुताबिक 22 वर्षीय पीड़िता मलिहाबाद इलाके में परिवारीजनों के साथ रहती है। पीड़िता बीए थर्ड ईयर की छात्रा है। पीड़िता का आरोप है की   कुछ दिनों पहले उसकी काशी प्रसाद से मुलाकात हुई। काशी प्रसाद ने युवती को अपने दोस्त बबलू, हरिश यादव और जेपी गुप्ता से मिलवाया। आरोपियों ने युवती को बिजली विभाग में क्लर्क की नौकरी दिलाने के नाम पर युवती से 50 हजार रुपये मांगे। युवती ने अपने पिता से 50 हजार रुपये लिए और दो मार्च को काशी के साथियों को दे दिए। आपको बता दें की युवती के पिता प्रदेश पुलिस विभाग से सिपाही के पद से रिटायर हो चुके है । 

युवती को फ़ोन कर मिलने बुलाया 

वहीँ युवती ने बताया की गुरुवार को काशी ने उसे फोन किया और न्यू हाई कोर्ट के पास स्थित एक नवनिर्मित बिल्डिंग में मिलने के लिए बुलाया। युवती हाई कोर्ट रोड स्थित बिल्डिंग के पास पहुंची। वहाँ युवती की कार में मौजूद काशी के दोस्तों से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। युवती ने जब आरोपियों से पैसे मांगे तो कार में मौजूद लोगों ने उसे देह व्यापार करने का ताना दिया। और जब युवती ने इसका विरोध किया तो आरोपितों ने उसे को जबरन कार में खींच लिया। इसके बाद बारी-बारी उसके साथ दुष्कर्म किया और अप्राकृतिक यौन संबंध भी बनाए। आरोपित दो घंटे तक कार में युवती को शहर में घुमाते रहे। और फिर बेसुध होने पर युवती को तेलीबाग इलाके में फेंक दिया और भाग गए। वहीँ महिला को होश आने के बाद पीड़िता ने परिवारीजनों को फोन पर मामले की जानकारी दी। उधर मामले के संबंध में इंस्पेक्टर राजीव द्विवेदी ने बताया, 'पीड़िता को मेडिकल के लिए लोहिया अस्पताल भेजा गया है। शुरुआती जांच में पीड़िता के शरीर पर खरोंच कि निशान मिले हैं। डॉक्टरों ने स्वाब को स्लाइड टेस्ट के लिए भेजा है। पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है।' 

    

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment