Smart Policing

आईपीएस अधिकारी के स्टिंग आपरेशन में खुलासा, नो एंट्री में वसूली कर ट्रकों को एंट्री दे रहे चार सिपाही

आईपीएस अधिकारी के स्टिंग आपरेशन में खुलासा, नो एंट्री में वसूली कर ट्रकों को एंट्री दे रहे चार सिपाही

राजधानी पुलिस के सिपाही लगातार अपनी करतूतों से महकमे को दागदार कर रहे हैं और  इनका वसूली का धंधा तो बारह महीने चलता है। ऐसे ही चार पुलिसकर्मी बुधवार को प्रशिक्षु आईपीएस अफसर के कैमरे में कैद हो गए। जानकारी के मुताबिक चारों पुलिसकर्मी बेखौफ उगाही में मश्गूल थे । जेब में रकम आते ही नो एंट्री में भी ट्रकों को जाने की हरी झंडी दिए जा रहे थे। पर जैसे ही इन उगाहीखोर पुलिसवालों को इस बात की भनक लगी कि कोई उनकी करतूत को कैमरे में कैद कर रहा है वैसे ही इनके होश फाख्ता हो गए। और ये चारों फौरन ड्यूटी छोड़ नौ दो ग्यारह हो गए। बाद में पड़ताल हुई तो पता चला कि कैमरे में कैद हुए पुलिसकर्मियों में मुख्य आरक्षी विमलेश कुमार, आरक्षी धीरज, विनोद और विपिन पांडे शामिल थे। और फिर चारों के खिलाफ बंथरा खाने में केस दर्ज करने के साथ ही इन्हे निलंबित भी कर दिया गया। 

जानिए पूरा मामला

आपको बता दें कि राजधानी की सड़को पर पुलिसवालों द्वारा उगाही किए जाने लगातार शिकायतें मिल रही थी। जिसके बाद महकमे की बदनामी को देखते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सख्त रूख अपना लिया। वहीं एसएसपी ने बताया कि कानपुर रोड स्थित जुनावगंज तिराहे पर ट्रकों को नो-एंट्री में ले जाने के नाम पर दिन भर होने वाली वसूली की शिकायत मिली थी जिसके बाद प्रशिक्षु आईपीएस/ क्षेत्राधिकारी यातायात अभिषेक वर्मा से स्टिंग ऑपरेशन कराया गया। सादे लिबास मे जुनाबगंज तिराहा पहुंचे अभिषेक ने ढाबे पर गाड़ी खड़ी कर दी और चहलकदमी करते हुए ट्रक चालको से वसूली कर रहे पुलिसकर्मियों की वीडियो क्लिप बनाना शुरू कर दिया। ट्रक आते, पुलिसवालों को नोट थमाते और नो एंट्री में दाखिल हो जाते। लेकिन इसी बीच ना जाने कैसे सिपाहियो को भनक लग गई कि कोई उन्हे कैमरे में कैद कर रहा है और फिर वे डयूटी छोड़कर भाग निकले।

OTHER VIDEO :

एसएसपी ने चारों सिपाहियो के निलंबन के दिए आदेश

वहीं नो-एंट्री पाइंट पर स्टिंग आपरेशन से कृष्णनगर के सीओ लाल प्रताप सिंह और कोतवाल विजय सेन सिंह पूरी तरह बेखबर थे । अभिषेक ने बंथरा थाने पहुंचकर पुलिसकर्मियों के बारे में जानकारी दी। पता चला कि मुख्य आरक्षी विमलेश कुमार के नेतृत्व में आरक्षी धीरज, विनोद और विपिन पांडेय की टीम को जुनाबगंज तिराहे पर ड्यूटी के लिए भेज दिया गया था। वहीं प्रशिक्षु आईपीएस अभिषेक वर्मा ने चारों पुलिसकर्मियो का ब्यौरा जुटाने के साथ उनकी तलाश शुरू कराई । चारों फोन बंद कर भूमिगत हो गए हैं एसएसपी ने बताया कि क्लिप बना रहे अभिषेक के इशारे पर एक पुलिसकर्मी ने वसूली कर रहे सिपाही को पकड़ने की कोशिश भी की थी लेकिन चारों पुलिसकर्मी बाइक लेकर भाग निकले। एसएसपी ने चारों आरोपी सिपाहियों को निलंबित कर केस दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं। इस पर कोतवाल की तहरीर पर चारों के खिलाफ वसूली का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

OTHER VIDEO :

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment