Transfer

रुचिवर्धन बनी इंदौर की पहली महिला एसएसपी

रुचिवर्धन बनी इंदौर की पहली महिला एसएसपी

इस समय लोकसभा चुनाव से पहले पुलिस महकमें के कई बड़े अधिकारियों के तबादले की गाड़ी दौड़ाई गई है। इसी कड़ी में एक बार फिर से शुक्रवार को सरकार ने 34 आईपीएस अधिकारीयों के तबादले किये है। जिसमें आठ जिलों के एसपी भी शामिल है। इन तबादलों में इंदौर में तैनात हरिनारायणाचारी मिश्र को हटाकर 2006 बैच की महिला आईपीएस रुचिवर्धन मिश्र के हाथों में कमान सौंपी गई है। बता दें कि वह इंदौर की पहली महिला एसएसपी होंगी।


OTHER VIDEO :

इंदौर की पहली महिला एसएसपी 

जानकारी के मुताबिक बता दें कि 2006 बैच की रुचिवर्धन को एक महीने पहले ही खंडवा से एसपी पद से हटाया गया था। ईमानदार और अपने कार्य के प्रति हमेशा सजग रहने वाली इस महिला आईपीएस को इंदौर में बतौर एसएसपी के पद पर तैनाती दी गई है। जिसके बाद अब रुचिवर्धन इंदौर की पहली महिला एसएसपी होंगी। 

महिला अपराध का निपटारा पहली प्राथमिकता 

इंदौर की पहली एसएसपी बनने के बाद रुचिवर्धन ने कहा कि "मैं इंदौर को एक बड़ी चुनौती मानती हूं। इंदौर में संगठित अपराध के गिरोह और महिला अपराधों पर नकेल कसना मेरी प्राथमिकता होगी। इसके साथ ही थाने पर आने वाले हर पीड़ित की सुव्यवस्थित ढंग से सुनवाई की जाएगी। साथ ही 24 घंटे ड्यूटी देने वाले पुलिस जवान तनाव से मुक्त रहेंगे। एक अच्छी पुलिसिंग आम लोगों के लिए कर सके। ऐसा मेरा प्रयास रहेगा।

OTHER VIDEO :

कई बड़े अधिकारियों के किए गए तबादले

इसी कड़ी में हरिनारायाणाचारी को डीआईजी पीएचक्यू का पद सौंपा गया है। साथ ही डीआईजी पीएचक्यू रह चुके धर्मेंद्र चौधरी का तबादला कर डीआईजी इंदौर ग्रामीण के पद पर तैनात किया जाएगा। जीजी पांडे को इंदौर में नारकोटिक्स आईजी बनाया गया है। साथ ही अवधेश गोस्वामी को एसपी इंदौर पूर्व से एसपी मुख्यालय इंदौर और यूसुफ कुरैशी को एसपी मुख्यालय इंदौर से एसपी पूर्व इंदौर ट्रांसफर कर दिया गया है।

OTHER VIDEO :

भाजपा सांसद की बेटी को भेजा गया 23 वीं बटालियन

बता दें कि भाजपा सांसद की बेटी सिमाला प्रसाद को महिला अपराध शाखा से निकालकर सेनानी 23 वीं वाहिनी बटालियन भोपाल भेजा गया है। वहीं बार-बार तबादला आदेश बदलने के कारण आईपीएस अधिकारी विनीत खन्ना की पत्नी हिमाना खन्ना को लूपलाइन से निकालकर एसपी कटनी बनाया गया है। बताया जा रहा है कि इस दौरान पूर्व में शिकायतों के कारण हटाए गए कुछ आईपीएस अधिकारियों को एक बार फिर से मैदानी पोस्टिंग मिली है।  

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment