Crime

पत्रकार बेटे की हत्या के बाद पिता बोले, SHO ने की होती कार्यवाही तो बच जाती बेटे की जान

पत्रकार बेटे की हत्या के बाद पिता बोले, SHO ने की होती कार्यवाही तो बच जाती बेटे की जान

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के फेफना थाना क्षेत्र में सोमवार शाम एक न्यूज चैनल के पत्रकार रतन सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है. वहीं, मामले में बलिया एसपी ने फेफना एसएचओ शशि मौली पांडेय को निलम्बित कर दिया है. दरअसल, फेफना के एसएचओ पर रतन सिंह के पिता विनोद सिंह ने गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने घटना की पूरी कहानी बयां करते हुए कहा कि उनका बेटा रतन सिंह को बचाया जा सकता था. अगर थाना प्रभारी शशि मौली पांडेय ने कोई कार्रवाई की होती तो.

थाना इंचार्ज को फोन कर था बुलाया लेकिन 

एक निजी चैनल में काम करने वाले पत्र्कान रत्न सिंह के पिता ने बताया कि घटना शाम के करीब 7 बजे की है. उन्‍होंने बताया कि शाम 6 बजे के आसपास प्रधान का भाई सोनू आया था. उस वक्‍त उनका बेटा रतन सिंह मोटरसाइकिल से कहीं जा रहा था. दोनों में कुछ बात हुई. इस दौरान रतन के मोबाइल पर फोन कर उन्‍हें एक और आदमी ने बुलाया. इसके बाद ये लोग रतन को लेकर चले गए. रतन सिंह के पिता ने बताया कि प्रधान के हाते में पहले से 10 आदमी थे. उन्होंने पहले लाठी-डंडे से रतन को मारना शुरू किया. इस दौरान रतन सिंह ने थाना इंचार्ज फेफना शशि मौली को फोन किया. थाना इंचार्ज वहां पहुंचे और देखकर वापस थाने चले गए. पीड़ि‍त पिता का कहना है कि अगर शशि मौली वापस नहीं लौटते तो उनके बेटे की जान बच जाती. उन्होंने आरोप लगाया कि शशि मौली की ही सारी साजिश है. उन्‍होंने बताया कि हमलावरों में कुछ दलके पट्टीदार हैं और ग्राम प्रधान व उसका भाई है. उन्होंने कहा कि हमारे दो लड़के थे, दोनों गुजर गए. अब हमारी जिंदगी कितने दिन की है?

मुख्य आरोपी सहित 6 गिरफ्तार

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी अरविंद सिंह, दिनेश सिंह और सुनील सिंह समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस का कहना है कि हत्या जमीन विवाद में की गई. बता दें कि सोमवार रात रतन सिंह को अपराधियों ने उनके घर के पास गोली मार दी थी. अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस अधीक्षक (एसपी) देवेंद्र नाथ ने बताया कि झगड़े के दौरान पट्टीदारों ने पत्रकार रतन सिंह को गोली मारी.

लेखक

Madhavi Tanwar

Police Media News

Leave a comment