Khaki Connection

इंद्रदेव की कृपा से कोतवाली बनी तालाब

इंद्रदेव की कृपा से कोतवाली बनी तालाब


लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से देशभर का बुरा हाल है. यूपी में भी इस साल रिकॉर्ड तोड़ बारिश हो रही है. सितंबर के महीने में भी इंद्र देवता की मेहरबानी बनी हुई है नतीजतन पूरा यूपी इन दिनो मूसलाधार बारिश की वजह से पानी-पानी हो रहा है. यूपी के हाथरस का भी यही हाल है. सड़कें –गलियां तो लबालब हैं ही चारों तरफ पानी ही पानी । जहां नजर दौड़ाओ वहां पानी ही पानी ।  जो तस्वीर आप देख रहे हैं उसे देखकर तो  लग रहा है कि मानो  ये पानी सब कुछ अपने में समाना चाहता है । यूपी में बारिश का कहर इस कदर बरप रहा है कि जहां सुनो तबाही तबाही की खबरे सुनाई दे रही हैं। लोग इंद्र देव से दुआ कर रहे हैं कि अब थम जाओ। बीते दिनों बारिश के चलते  हाथरस की शहर की सड़कें और गलियां  जलमग्न हो गईं हैं। हैरानी की बात ये है कि शहर की सदर कोतावाली में बारिश का पानी भर गया। कोतवाली के अंदर आने वाली सड़क का पता नहीं था। ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मानो कोतवाली के पास कोई नदी बह रही हो । आलम ये रहा है कि जो जहां था वो वहीं रह गया।

 
थानेदार के कमरे में घुसा पानी


थानेदार के कमरे में रखी कुर्सिया भी पानी में पूरी तरह डूबी हुई है. ऐसे में कोतवाली में जलभराव की समस्या का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है फरियादियों को. घुटनों तक भरे पानी की वजह से फरियादियों को कोतवाली के अंदर जाने में खासी दिक्कतें हो रही हैं. जलभराव की वजह से पुलिसकर्मियों को भी काम करने में काफी मुश्किलें आ रही है. काम छोड़ पुलिसवाले कोतवाली में पानी के कम होने का इंतजार करते दिख रहे हैं.

नगरपालिका के दांवों की खुली पोल


बहरहाल इस बारिश ने नगरपालिका के सभी दावों की पोल खोल कर रख दी है. शहर की सड़कों से लकेर घर और ऑफिस सब जलभराव की समस्या से जूझ रहे हैं. ऐसे में लोगों का कहीं आना-जाना भी मुश्किल हो गया है। अपनी फरियाद लेकर जो लोग कोतवाली आना चाहते थे उनके पैर भी पानी ने बांध दिए। लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि आखिर ऐसे हालत पैदा कैसे होते हैं। मनुष्य का प्रकृति से  छेड़छाड़ का नतीजा है कि उसे ऐसे हालात का सामना करना पड़ता है। मानव की तरह पानी भी आगे बढ़ने की कोशिश करता है। और जब पानी को अपना रास्ता नहीं दिखता तो हाथरस कोतवाली जैसे हालात पैदा हो जाते हैं। जहां चारों तरफ दिखाई देता है  पानी...पानी और पानी....

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment