Crime

पूर्वोत्तर रेलवे के डिप्टी सीसीएम ने गोली मारकर खुदकुशी की

पूर्वोत्तर रेलवे के डिप्टी सीसीएम ने गोली मारकर खुदकुशी की

पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर के उप मुख्य वाणिज्य प्रबंधक/प्रेजेंटिंग अफसर (डिप्टी सीसीएम/पीओ) रेल दावा अधिकरण, तरुण शुक्ल (56) ने कौवाबाग रेलवे कालोनी स्थित अपने सरकारी आवास 29-बी में मंगलवार को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। छह बजे के आसपास लोगों को इस मामले की जानकारी हुई। बंगले के ड्राइंग रूम में सोफे पर उनका शव मिला। उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर पेट पर पड़ी थी। कमरे से अंग्रेजी में लिखा दो पन्ने का सुसाइड नोट मिला है। उसमें उन्होंने व्यक्तिगत कारणों से खुदकुशी करने की बात लिखी है। सुसाइड नोट व रिवाल्वर कब्जे में लेकर शाहपुर पुलिस घटना की छानबीन कर रही है।


आत्महत्या के कारणों का पता नहीं 


तरुण शुक्ल की पत्नी ऊषा देवी चार दिन पहले बेटे के पास नोएडा चली गई थीं। आवास में इस समय वह तथा छोटी तन्वी शुक्ला और नौकर व उसकी पत्नी ही थे। नौकर, पत्नी के साथ आवास के पीछे बने आउट हाउस में रहता है। नौकर और पुलिस के मुताबिक मंगलवार को दिन में 11 बजे से ही तरुण शुक्ल ने खुद को ड्राइंग रूम के अंदर बंद कर लिया था। ड्राइंग रूम में दो दरवाजे लगे हैं। दोनों दरवाजों में उन्होंने अंदर से कुंडी लगा रखी थी। नौकर के मुताबिक करीब-करीब रोज ही वे ऐसा करते थे, इसलिए किसी ने उन पर ध्यान नहीं दिया।


नहीं खुला दरवाजा तो बेटी को हुआ शक 


दोपहर में 12 बजे के आसपास खाना खाने के बाद बेटी तन्वी अपने कमरे में जाकर सो गई। शाम को छह बजे के आसपास सो कर उठने के बाद वह पिता का हालचाल जानने ड्राइंग रूम की तरफ गई तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। कई बार आवाज लगाने और दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब कोई जवाब नहीं मिला तो संदेह होने पर उसने दरवाजे के बाहर लगी लोहे की जाली और शीशा तोड़ दिया और हाथ डालकर दरवाजे की कुंडी खोल अंदर गई तो सोफे पर पिता का शव दिखा। गोली सीने में लगी थी। गोली से हुए सुराख साथ ही उनके मुंह से भी खून निकलकर सूख गया था।


नौकर ने बुलाई पुलिस 


बेटी के शोर मचाने पर बंगले के आउट हाउस से नौकर और उसकी पत्नी भाग कर ड्राइंग रूम में पहुंचे। नौकर न ही रेलवे के अफसरों और पुलिस को घटना की जानकारी दी। अफसरों के निर्देश पर रेलवे अस्पताल से आए डाक्टर दीपांकर चौरसिया ने चेक करने के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। तरुण शुक्ल मूलत: बरेली शहर के सुरेश शर्मा नगर कालोनी के रहने वाले थे। 15 साल से वह गोरखपुर में कार्यरत थे। उनकी दो बेटियां और एक बेटा है। बड़ी बेटी तनुषा शुक्ला, दिल्ली में रहकर ब्रिटिश एयरवेज में काम करती है। बेटा नोएडा में रहता है और केपीएमजी कंपनी में कार्यरत है। छोटी बेटी तन्वी माता-पिता के साथ गोरखपुर रह रही थी। इस समय वह बीए द्वितीय वर्ष में पढ़ रही है।

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment