Smart Policing

DGP ओपी सिंह का आदेश- पत्रकारों का मान-सम्मान करें यूपी पुलिसकर्मी

DGP ओपी सिंह का आदेश- पत्रकारों का मान-सम्मान करें यूपी पुलिसकर्मी

अक्सर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ कहे जाने वाली मीडिया और पुलिसकर्मियों के बीच तकरार की खबरे आती रहती हैं। पुलिसवाले अपनी वर्दी के रौब के आगे पत्रकारों को दबाने की कोशिश करते भी देखे जाते हैं। लेकिन अब पत्रकारों के मान-सम्मान को दृष्टिगत रखते हुए  प्रदेश पुलिस के मुखिया ओपी सिंह ने सख्त आदेश देते हुए कहा है कि पुलिसकर्मी अब से पत्रकारों के साथ इज्जत से पेश आए। 

जानिए पूरी खबर

पत्रकार ही समाज को आईना दिखाने का काम करते हैं। पत्रकार ही अपनी जान जोखिम में डालकर कलम के सहारे समाज मे हर जातिवाद,पूजींवाद, सामंतवादी,विचारधाराओं की दृष्टिकोण के भावनाओं को दूर रखकर समाजवादी उदारवादी, आचरण की भावनाओं का समाज मे अहम संदेश जनता तक अपनी कलम के माध्यम से पहुंचाता है और उसे अपना कर्तव्य समझ अपनी ईमानदारी से जनता के बीच रह कर पूरा करता है। बावजूद इसके आज मीडिया जगत में लगातार पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं पत्रकारों की हत्या की जा रही है, कलम को दबाने की कोशिशें की जा रही है ।कहीं ना कहीं पत्रकारों पर पुलिस प्रशासन का भी दबाव बनाया जा रहा है ऐसे में पत्रकारों के मान-सम्मान को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने अहम फैसला लिया है। जानकारी के मुताबिक डीजीपी ने एक पत्र जारी कर यूपी पुलिस को सख्त आदेश दिए कि वे पत्रकारों का सम्मान करें। 

डीजीपी ने पत्र जारी कर दिए सख्त आदेश

 डीजीपी ने अपने पत्र में कहा है कि पत्रकारों को समाचार संकलन करने में जिला एवं थाना स्तर पर पुलिसवालों द्वारा पूरा सहयोग किया जाए। वहीं उन्होने कहा कि अगर कोई पत्रकार थाने आए तो उनके साथ पुलिसकर्मी सलीके से पेश आए और उनके साथ अच्छा व्यवहार किया जाए। वहीं डीजीपी ने ये भी कहा है कि पत्रकारों की शस्त्र लाइसेंस लिखने में पुलिस द्वारा परेशान न किया जाए साथ ही कहां है कि पुलिसवाले पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर पत्रकारों पर कार्रवाई न करें। वहीं डीजीपी के मुताबिक अगर कोई पत्रकार खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है तो उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिसवालों की है।  इतना ही नहीं डीजीपी ने अपने पत्र के जरिए पुलिसकर्मियों को ये भी निर्देश दिया है कि पत्रकारों को आगामी लोकसभा चुनाव-2019 मे पुलिस द्वारा पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर 107/ 115 की कार्रवाई न की जाए।

 

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment