Khaki Connection

चौकी इंचार्ज पर कैफे संचालक ने लगाया बंधक बना मारपीट करने का आरोप

चौकी इंचार्ज पर कैफे संचालक ने लगाया बंधक बना मारपीट करने का आरोप

यूपी पुलिस आए दिन किसी ना किसी विवाद से घिरी रहती है । इस महकमे के कुछ पुलिसवाले अपनी वर्दी की आड़ में जब-तब आमजन को परेशान करते ही रहते हैं और एक बार फिर इंदिरानगर में एक कैफे संचालक ने तकरोही चौकी इंचार्ज पर बंधक बना कर पीटने का आरोप लगाया है। दरअसल कैफे संचालक का कहना है कि चौकी इंचार्ज अक्सर मुफ्त में आकर उसकी दुकान से चाय समोसे खा जाते थे और जब उसने दरोगा की इस मुफ्तखोरी पर एतराज जताया तो चौकी इंचार्ज ने उसे बंधक बनाकर पीटा और लूटपाट की। फिलहाल संचालक ने अपनी आपबीती की शिकायत एसएसपी, डीजीपी और मुख्यमंत्री को ट्वीट और ईमेल कर लगाई है

जानते हैं क्या है पूरा मामला

यूपी पुलिस के वर्दीवाले महकमें की फजीहत कराने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं। हर रोज ये खाकी वाले किसी ना किसी विवाद को खड़ा किए ही रहते हैं। ताजा मामला इंदिरानगर का है बताया जा रहा है कि यहां एक कैफे संचालक समीर खान का तकरोही के मायावती कॉलोनी मोड़ पर अफलातून कैफे के नाम से चाय, समोसे की शॉप है। समीर का आरोप है कि तकरोही चौकी प्रभारी दीपक राय अक्सर सिपाहियों के साथ उसकी दुकान पर आते और मुफ्त में चाय समोसे गपागप खा चलते बनते। चौकी इंचार्ज के मुफ्त में खाने को लेकर जब उसने कुछ दिन पहले विरोध किया तो सोमवार को चौकी इंचार्ज दीपक राय सिपाही के साथ आए और दुकान का काउंटर एक फिट बाहर होने की बात कह कर उसकी पिटाई करने लगे। इतना ही नहीं इन वर्दीवालों ने उसका सारा सामान भी तोड़ दिया। और पुलिसवालों की ये गुंडार्दी देखकर जब वहां भीड़ इकट्ठी होने लगी तो उसे घसीट कर बाइक पर बैठा कर चौकी ले जाया गया। चौकी पर भी उसे पट्टा और लात-घूंसों से जमकर पीटा गया। इतना ही नहीं चौकी में बनी हवालात में उसे ठूंस दिया गया। पीड़ित का आरोप है कि चौकी इंचार्ज ने उसकी गले की सोने की चेन और जेब में रखे 15 हजार रूपये समेत मोबाइल भी छिन लिया।

छोड़ने के बदले पीड़ित से 1 लाख रूपए मांगे

पीड़ित समीर का आरोप है कि चौकी  इंचार्ज ने कहा कि वो 3200 वर्ग फुट में एक मकान बनवा रहा है और ठेकेदार को रूपये देने हैं इसलिए अगर वो झूठे केस में जेल नहीं जाना चाहता तो एक लाख रूपये दे दे। लेकिन समीर ने रूपये देने में असमर्थता जातई तो उसे लॉकअप में डाल दिया गया। मंगलवार को व्यापारियों के जुटने पर पुलिस ने उसका शांतिभंग का चालान कर दिया और देर शाम कोर्ट से जमानत पर छोड़े गए पीड़ित ने सीएम जनसुनवाई पोर्टल समेत एसएसपी और डीजीपी को ट्वीट और ईमेल कर शिकायत की और कार्रवाई करने की मांग की। वहीं दूसरे व्यापारियों का भी आरोप है कि चौकी पभारी दीपक राय ने पीड़ितों से वसूली के लिए चौकी के अंदर ही हवालात बना रखी है जहां पीड़ितों को कई दिनों तक बंधक बनाकर टार्चर किया जाता  और वसूली की जाती है

चौकी इंचार्ज ने आरोपों को बताया बेबुनियाद

वहीं इन आरोपों के बाद अब चौकी प्रभारी सफाई दे रहे हैं कि समीर और उसके पड़ोसियों में अक्सर विवाद होता रहता  है और इसीलिए शिकायत पर उसे थाने लाकर शांतिभंग का चालान किया गया  इसके अलावा मारपीट और लूटपाट का आरोप सरासर गलत है। 

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment