Smart Policing

अपने गीतों के माध्यम से लोगों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ा रहे हैं आरटीओ साहब

अपने गीतों के माध्यम से लोगों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ा रहे हैं आरटीओ साहब

लगातार बढ़ रही सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए प्रदेश सरकार नित नई योजनाओं को अमलीजामा पहना रही है। इस कड़ी में सड़क दुर्घटना रोकने का एक नया फार्मूला कौशांबी जिले में तैनात एआरटीओ ने भी अपनाया। जानकारी के मुताबिक एआरटीओ शंकर सिंह  खुद के रचित गीत के माध्यम से यातायात नियमों की अनदेखी करने वाले लोगों को जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं। उम्मीद है कि उनकी ये कोशिश सफल होगी और लोग  यातायात नियमों का पालन करने के प्रति सचेत होंगे जिससे कमी आएगी।


जानिए पूरी खबर

बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए कौशांबी जिले में तैनात एआरटीओ शंकर सिंह खुद के रचित गीतों के माध्यम से यातायात नियमों के प्रति जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं। दरअसल एआरटीओ का मानना है कि ट्रैफिक गीत के माध्यम से लोग यातायात नियमों का पालन करने के प्रति सचेत होंगे। इसलिए उन्होने अपने गीतों के जरिए यातायात का पाठ पढाने का अनोखा तरीका इजाद किया है। इतना ही नहीं उन्होंने ट्रैफिक नियमों के पालन के प्रति प्रेरित करने वाले गीतों का एलबम बनवाकर इसे यू-ट्यूब पर भी लांच किया है। गौरतलब है कि लोग इस एल्बम को खूब पसंद कर रहे हैं और शेयर भी कर रहे हैं। 

चलाया जा रहा है जागरूकता अभियान

आपको बता दें कि यातायात जागरूकता के कार्यक्रमों में भी एआरटीओं के एल्बम के गीतों को बजाया जा रहा है। वहीं एआरटीओ का कहना है कि हेलमेट नहीं पहनने और अनफिट वाहन लेकर सड़क पर चलने वालों पर जुर्माने ठोके जाने के बाद भी हादसों में कमी नहीं आ रही है। उन्होने कहा कि हादसे तभी रुक सकते हैं जब लोग जागरूक हों। वाहन चालक जागरूक होंइसके लिए उन्होंने एक गीत लिखा है जिसके बोल हैं, "यातायात नियम अपनाकरजीवन अपना सुखद बनाए - नियमों का अनुपालन करकेसारे संकट दूर भगाएं" यह गीत यू-ट्यूब पर भी खूब वाहवाही बटोर रहा है। 

एआरटीओ को कविताएं लिखने का भी शौक

गौरतलब है कि एआरटीओ कविताएं भी लिखते हैं। अब तक उनके आधा दर्जन काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं। उनका कहना है कि गीत को लांच करने के पीछे मकसद यही है कि लोग हादसों में जान न गवाएं। हादसे से केवल घायल होने वाला ही नहीं बल्कि उसके पूरे परिवार का विकास रुक जाता है।

लेखक

Madhavi Tanwar

Police Media News

Leave a comment