Super Cop

यूपी पुलिस में कार्यरत एक दंपति अज्ञानता का अंधकार दूर कर जला रहा है ज्ञान का प्रकाश

यूपी पुलिस में कार्यरत एक दंपति अज्ञानता का अंधकार दूर कर जला रहा है ज्ञान का प्रकाश

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस विभाग में कार्यरत एक दंपत्ति आमजन का चहेता बना हुआ है। जानकारी के मुताबिक ये दंपत्ति अशिक्षा का अंधकार मिटाकर उन गरीब बच्चो में ज्ञान का प्रकाश फैला रहे हैं जो गरीबी और तंगहाली की वजह से स्कूल नहीं जा पाते। अपनी इस सराहनीय पहल को अमलीजामा पहनाने के लिए इस दंपति ने स्ट्रीट क्लास शुरू की और गरीब बच्चों को किताबी ज्ञान देने के अलावा सही-गलत का पाठ भी पठा रहे हैं। हालांकि तबादलों के चलते इस दंपत्ति के इस मिशन में बाधा भी पहुंची लेकिन इनकी पोस्टिंग जहां भी हुई वहीं इन्होने अपने स्ट्रीट क्लास के मिशन को चालू कर दिया। फिर शहर की गलियां हो या गांव में पेड़ की छांव इस दंपत्ति ने गरीब बच्चों को पढ़ाने के मिशन को नहीं छोड़ा। 

जानिए पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक राजधानी लखनऊ में पीएसी मुख्यालय में तैनात सब इंस्पेक्टर अनूप मिश्रा और उत्तर प्रदेश टेलीकॉम में सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत उनकी पत्नी रीना पांडेय उन मासूम बच्चों के बीच शिक्षा की लौ जला रहे हैं जो गरीबी जैसी मजबूरी की वजह से स्कूल की दहलीज नहीं चढ़ पाते हैं। मिडिल क्लास फैमली से ताल्लुक रखने वाले अनूप ड्यूटी के बाद बचे समय में गरीब बच्चों को पढ़ाते हैं। वहीं अनूप के मुताबिक इस नेक काम को करने की ललक उन्हे उस वक्त मिली जब वे इंटर में पढ़ा करते थे। उस दौरान अपने जेब खर्च के लिए वह ट्यूशन पढाया करते थे। उस दौरान वे ये देखकर काफी आहत होते थे जब कई अच्छे और होनहार बच्चे घर की आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण पढ़ाई बीच में छोड़ देते थे। ये बात अनूप के दिल में घर कर गई थी और फिर उन्होने गरीब बच्चों को पढ़ाने की ठान ली। एलएलबी की पढ़ाई के दौरान वे तमाम बच्चों को बिना फीस लिए पढ़ाते थे। उनके विद्यार्थी तमाम कूड़ा बीनने वाले, भीख मांगने वाले और झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले बच्चे होते हैं। वे इन बच्चों को शिक्षा का महत्व समझाते हैं और उन्हे पढ़ने के लिए प्ररित करते हैं। वहीं इस नेक काम में उनकी सब इंस्पेक्टर पत्नी रीना पांडेय भी पूरा सहयोग देती है। 

तबादलों के बाद भी शिक्षित करने का मिशन जारी है

गौरतलब है कि दोनो पति-पत्नी पुलिस में हैं इस वजह से उनके तबादले भी होते रहते हैं लेकिन इनका गरीब बच्चों की अज्ञानता दूर करने का मिशन भी इनके साथ चलता है। इस दंपत्ति की जहां पोस्टिंग होती है वहां ये एक नई चुनौती के साथ स्ट्रीट क्लास शुरू कर देते हैं। अब ये दंपत्ति लखनऊ में पोस्टिड है तो य़हां भी इनका अज्ञानता दूर कर ज्ञान का प्रकाश जलाने का मिशन जारी है। आपको बता दें कि फिलहाल ये दंपत्ति 5400 की आबादी वाले गांव देवीखेड़ा में एक पेड़ के नीचे क्लास लगाते हैं।

पुलिसिया पहचान छिपाकर पढ़ाना किया शुरू

शुरूआत में पुलिसिया पहचान छिपाकर अनूप ने पढ़ाना शुरू किया ताकि वर्दी के भय से कोई दूर न भागे। अनूप मिश्रा ने बच्चों को अनके अधिकारों से परिचित कराया और नशे की लत में पड़ते मजदूरों,गरीबों के बच्चों को सही मार्गदर्शन दिया। सरोजनी नगर इलाके के ग्राम दादूपुर बंथरा सरैया समते कई ग्राम सभाओं में बच्चों को स्कूलों में इनके नैतिक शिक्षा का कार्यक्रम निरंतर जारी रहता है।

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment